स्वतंत्रता सेनानी के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य, swatantrata senani ke bare me mahtvapurn tathya

0
43

स्वतंत्रता सेनानी के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य, swatantrata senani ke bare me mahtvapurn tathya

स्वतंत्रता सेनानी
स्वतंत्रता सेनानी

अजमेर निवासी ज्वाला प्रसाद शर्मा स्वतंत्रता सेनानी ने सन् 1931 में रेलवे खजाना लूटने की योजना बनाई गई किन्तु वे सफल नहीं हो सके । स्वतंत्रता सेनानी घासीराम चौधरी किसान जागरण के अग्रणी नेता रहे है । जब नमक कानून तोड़ा तो पं , ताड़केश्वर शर्मा के मुट्ठी में नमक रह गया जिसे विजयसिंह पथिक ने छ : सौ रुपयों में नीलाम किया । पं . ताड़केश्वर शर्मा ने आगरा से अपने सम्पादन में ‘ गणेश नामक साप्ताहिक पत्र का प्रकाशन किया । ‘ विद्यार्थी भवन , झुंझुनूं ‘ के संस्थापक हरलाल सिंह स्वतत्रता सेनानी के कुशल नेतृत्व के लिए उन्हें कार्यकर्ताओं द्वारा ‘ सरदार ‘ की उपाधि से विभूषित किया ।

छगनराज चोपासनीवाला स्वतत्रता सेनानी के द्वारा मारवाड़ हितकारिणी सभा , यूथ लीग , बाल भारत सभा , सिविल लिबर्टिज यूनियन , पीपुल्स एसोसिएशन , प्रजामण्डल और लोक परिषद आदि प्रमुख संस्थाओं की स्थापना की गई । छगनराज चोपासनीवाला ने 26 जनवरी , 1932 को जोधपुर की जूनी धान मण्डी में पहली बार तिरंगा झण्डा फहराया था । छनगराज ने जयनारायण व्यास स्वतत्रता सेनानी के साप्ताहिक पत्रलोकराज का भी सम्पादन किया ।

1.प्रताप सिंह बारहठ का जीवन परिचय, pratap singh barhath ka jivan parichay

2.ऋषिदत्त मेहता का जीवन परिचय, rishidatta mehta ka jivan parichay

3.बाबू राजबहादुर का जीवन परिचय, babu rajbahadur ka jivan parichay

4.तृतीय गोलमेज सम्मेलन, tritiya golmej sammelan

स्वतंत्रता सेनानी के कार्य, swatantrata senani ke karya

स्वतंत्रता सेनानी पंडित नरोत्तम जोशी 1945 में संविधान निर्मात्री समिति के सदस्य रहे तथा राजस्थान विधानसभा के प्रथम अध्यक्ष बने । स्वतत्रता सेनानी बाबा नरसिंह दास ने मद्रास से सबसे पहला हिन्दी पत्र भारत तिलक ‘ का प्रकाशन करवाया । स्वतंत्रता सेनानी रामकरण जोशी ने ‘ स्वराज ‘ नामक साप्ताहिक पत्रिका का सम्पादन किया । भोगीलाल पण्ड्या की धर्मपत्नी स्व . मणी बहन पण्ड्या को कस्तूरबा की तरह ‘ वागड़ बा ‘ की उपमा दी गई है । स्वतंत्रता सेनानी सुमनेश जोशी ने 1946 में जोधपुर से प्रकाशित ‘ रियासती ‘ समाचार पत्र का प्रकाशन सम्पादन किया तथा 1957 – 1962 तक उन्होंने विकास मूलक सचित्र साप्ताहिक पत्रआयोजन ‘ का प्रकाशन किया ।

1973 में प्रकाशित उनकी पुस्तक राजस्थान में स्वतंत्रता संग्राम के सेनानी ‘ एक आधारभूत ग्रंथ है । स्वतंत्रता सेनानी गणेशलाल व्यास उस्ताद ने गरीबों की आवाज ‘ ( 1932 ) , बेकसों की आवाज ‘ ( 1940 ) और इन्किलाबी तराने ‘ ( 1946 ) नामक गीत पुस्तिकाओं का प्रकाशन किया ।

स्वतत्रता सेनानी कप्तान दुर्गाप्रसाद चौधरी ने ‘ दैनिक नवज्योति ‘ नामक समाचार पत्र का प्रकाशन किया ।

1.कप्तान दुर्गा प्रसाद चौधरी का जीवन परिचय, captain durgaprasad choudhary ka jivan parichay

2.चंदनमल बहड़ का जीवन परिचय, chandanmal bahad ka jivan parichay

3.प्रथम गोलमेज सम्मेलन, pratham golmej sammelan, gandhi irwin samjhauta

4.बृजमोहन शर्मा का जीवन परिचय, brijmohan sharma ka jivan parichay

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here